Mukhyamantri Beej Swavalamban Yojana Rajasthan:किसानों को मिलेगा मुफ्त बीज व अन्य सहायता

mukhyamantri beej swavalamban yojana

Mukhyamantri Beej Swavalamban Yojana Rajasthan:मुख्यमंत्री बीज स्वावलंबन योजना ऑनलाइन आवेदन ,पात्रता,लाभ

Mukhyamantri Beej Swavalamban Yojana Rajasthan राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जी द्वारा शुरू की गई मुख्यमंत्री बीज स्वावलंबन योजना एक महत्वपूर्ण कदम है जो किसानों को लाभान्वित करने का उद्देश्य रखती है। इस योजना के माध्यम से, राजस्थान सरकार किसानों को निःशुल्क बीज प्रदान करके उनकी आर्थिक स्थिति को मजबूत करने का प्रयास कर रही है। यह योजना खासकर कमजोर वर्ग के किसानों को ध्यान में रखती है, जो बीज की खरीद पर आर्थिक दिक्कतों का सामना करते हैं।

इसके अलावा, मिनीकिट के माध्यम से भी राजस्थान सरकार कमजोर वर्ग के किसानों को सहायता प्रदान करती है, जिससे उन्हें कम लागत में बीज उपलब्ध होता है। इस योजना के अनुष्ठान से, किसान अधिक उत्पादन करने में सक्षम होते हैं, जिससे उनकी आर्थिक स्थिति मजबूत होती है और उन्हें स्वावलंबी बनाए रखने में मदद मिलती है। इसलिए, राजस्थान के किसानों को इस योजना के बारे में जानकारी प्राप्त करनी चाहिए और उसका लाभ उठाना चाहिए। इसलिए आपको इस लेख को अंत तक पढ़ना होगा।

Mukhyamantri Beej Swavalamban Yojana 2024

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जी द्वारा शुरू की गई मुख्यमंत्री बीज स्वावलंबन योजना राजस्थान के किसानों को सरकारी सहायता प्रदान करने का एक प्रमुख कदम है। इस योजना के माध्यम से कृषि विभाग द्वारा राज्य के किसानों को समृद्धि में मदद करने का लक्ष्य रखा गया है। कृषि विभाग द्वारा 30 से 50 किसानों का समूह बनाया जाता है ताकि वे आपसी सहयोग से खेती कर सकें। इन किसान समूहों को कृषि विभाग द्वारा चयनित किया जाता है और उन्हें आरएसएससी से निशुल्क बीज प्रदान किया जाता है। बुवाई के बाद, समूह के सभी किसानों को सरकार द्वारा प्रशिक्षण दिया जाता है, जो कि 3 चरणों में होता है।

यह प्रशिक्षण किसान समूह को बीज उत्पादन करने और उसे बेहतर मार्केट में प्रस्तुत करने में मदद करता है। इसके अलावा, मुख्यमंत्री बीज स्वावलंबन योजना के तहत लघु एवं सीमांत किसानों को बीज के लिए अनुदान प्रदान किया जाता है। इसका उद्देश्य है कि राज्य के किसान अपनी खेती को प्रगति की दिशा में ले जा सकें और आत्मनिर्भरता की ओर अग्रसर हो सकें।

Mukhyamantri Beej Swavalamban Yojana का उद्देश्य

मुख्यमंत्री बीज स्वावलंबन योजना को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य है कृषि विभाग द्वारा राज्य के लघु एवं सीमांत सामान्य किसानों को बीज उपलब्ध कराने के लिए 50% तक अनुदान उपलब्ध कराना। इसके अलावा, गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले किसानों को निशुल्क मिनी किट प्रदान करना। इससे राज्य के किसान अपने खेत में बीज का उत्पादन कर खुशहाली एवं आत्मनिर्भरता की ओर कदम बढ़ाते हैं।
Mukhyamantri Beej Swavalamban Yojana के तहत, किसानों को अपने खेत में उपयोग के लिए बीज उत्पादन करने हेतु प्रोत्साहित किया जाता है, जिससे वे अधिक उत्पादन करके अपनी आर्थिक स्थिति में सुधार प्राप्त कर सकें। यह योजना किसानों को कम लागत में अच्छे उत्पादन करने का अवसर प्रदान करती है, जिससे उनकी आर्थिक स्थिति में वृद्धि होती है।

Mukhyamantri Beej Swavalamban Yojana 2024 के बारे में जानकारी

योजना का नाम Mukhyamantri Beej Swavalamban Yojana
शुरू की गई मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जी के द्वारा
विभाग कृषि विभाग राजस्थान
लाभार्थी राज्य के किसान
उद्देश्य किसानों को बीज उपलब्ध कराने के लिए 50% तक अनुदान उपलब्ध कराना
अनुदान 50% अनुदान पर बीज उपलब्ध
राज्य राजस्थान
साल 2024
आवेदन प्रक्रिया ऑफलाइन

Mukhyamantri Beej Swavalamban Yojana किसानों को 50% तक का मिलता है अनुदान

मुख्यमंत्री बीज स्वावलंबन योजना के तहत कृषि विभाग द्वारा राज्य के लघु एवं सीमांत किसानों को बीज उपलब्ध कराने के लिए अनुदान दिया जाता है। इस योजना के अनुसार, राज्य के लघु और सीमांत किसानों को सरकार द्वारा 50% तक अनुदान पर बीज उपलब्ध कराया जाता है, जबकि सामान्य किसानों को 25% अनुदान पर बीजों की आपूर्ति सुनिश्चित की जाती है।
इसके अलावा, खाद, दवा और कृषि यंत्र भी प्रत्येक राज्य सरकारों द्वारा अनुदान दिया जाता है। यह अनुदान अलग-अलग राज्यों के हिसाब से वितरित किया जाता है। मुख्यमंत्री बीज स्वावलंबन योजना के माध्यम से 2 लाख से अधिक किसानों को लाभ प्रदान किया गया है। इस योजना के अंतर्गत, राजस्थान सरकार द्वारा अब तक 46,326 क्विंटल बीज का निशुल्क वितरण किया गया है।

Mukhyamantri Beej Swavalamban Yojana कैसे मिलेंगे निशुल्क बीज

मुख्यमंत्री बीज स्वावलंबन योजना के अंतर्गत, राजस्थान के किसानों को राष्ट्रीय तिलहन एवं ऑयल परमिशन तथा राष्ट्रीय खाद सुरक्षा मिशन के तहत सरकार द्वारा बीजों की निशुल्क मिनिकिट वितरण की जाती है। इन मिनिकिट किटों का चयन विभिन्न फसलों के बीजों से किया जाता है, जो राजस्थान के विभिन्न इलाकों की मिट्टी और जलवायु के अनुसार चयनित किए जाते हैं।
इससे किसानों को उन्नत बीज प्राप्त करने का मौका मिलता है और उन्हें खुद के खेत में उत्पादित बीज का उपयोग करने के लिए प्रेरित किया जाता है। इस योजना में मिनिकिट किट सिर्फ एक किसान परिवार की एक महिला को दी जाती है, चाहे भूमि महिला के पति, पिता या ससुर के नाम पर हो। इस रूप में, मिनिकिट किट का लाभ महिला सदस्य के नाम से ही दिया जाता है।

Mukhyamantri Beej Swavalamban Yojana के लाभ एवं विशेषताएं

  1. लाभ SC, ST, छोटे और सीमांत किसानों को: यह योजना गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करने वाले राज्य के गरीब और आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के किसानों को भी लाभ प्रदान करती है।
  2. निशुल्क मिनी किट का लाभ: योजना के अंतर्गत, राष्ट्रीय तिलहन एवं ऑयल परमिशन तथा राष्ट्रीय खाद सुरक्षा मिशन के अनुसार किसानों को निशुल्क मिनी किट का लाभ मिलता है।
  3. अनुदान बीज पर: छोटे किसानों को योजना के तहत बीज पर 50% तक का अनुदान प्रदान किया जाता है, जो उन्हें उन्नत बीज प्राप्त करने में मदद करता है।
  4. समृद्धि की दिशा में कदम: Mukhyamantri Beej Swavalamban Yojana के माध्यम से, सामाजिक और आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के किसानों को खेती में समानता और समृद्धि की दिशा में कदम बढ़ाने में मदद मिलती है।
  5. वितरण: सामान्य किसानों को 25% अनुदान के साथ-साथ, राजस्थान कृषि विभाग द्वारा किसानों को RSSC से निशुल्क बीज प्रदान कराया जाता है।
  6. बीज का वितरण: योजना के तहत राजस्थान सरकार द्वारा 46,326 क्विंटल बीज का निशुल्क वितरण किया गया है।
  7. प्रशिक्षण: किसानों को इस योजना के तहत प्रशिक्षण भी दिया जाता है, जिससे किसान बीज उत्पादन करने की क्षमता में सुधार होता है।
  8. लाभार्थियों की संख्या: Mukhyamantri Beej Swavalamban Yojana के माध्यम से राजस्थान में अब तक 2 लाख से अधिक किसानों को लाभ प्रदान किया गया है।
  9. स्वावलंबन: योजना ने किसानों को स्वावलंबी बनाया है, जिससे उन्हें खेती में आत्मनिर्भरता प्राप्त होती है।
  10. बीज उत्पादन के लिए प्रेरणा: योजना के अनुसार निशुल्क बीज प्रदान करने से, किसानों को बीज उत्पादन करने के लिए प्रेरित किया जा रहा है।

इसके माध्यम से, मुख्यमंत्री बीज स्वावलंबन योजना ने राजस्थान के किसानों को बीज उत्पादन में सहायता प्रदान करके उनकी आर्थिक स्थिति में सुधार किया है।

Mukhyamantri Beej Swavalamban Yojana पात्रता

  1. मूल निवास: योजना के लाभ के लिए आवेदक को राजस्थान का मूल निवासी होना आवश्यक है।
  2. जाति: इस योजना का लाभ राज्य के अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, लघु एवं सीमांत किसानों को ही प्राप्त होगा।
  3. पिछली पात्रता: निशुल्क मिनी किट प्राप्त करने के लिए, आवेदक को पिछले 3 वर्षों में मिनी किट कार्यक्रम से लाभ नहीं मिला होना चाहिए।
  4. महिला कृषक: मिनी किट प्राप्त करने के लिए केवल महिला कृषक ही पात्र होंगी। इससे योजना महिलाओं को सामाजिक और आर्थिक रूप से सशक्तिकरण का अवसर प्रदान करती है।

Mukhyamantri Beej Swavalamban Yojana आवश्यक दस्तावेज़:

योजना के लाभ प्राप्त करने के लिए आवश्यक दस्तावेज़:

  1. आधार कार्ड
  2. पहचान पत्र
  3. निवास प्रमाण पत्र
  4. जाति प्रमाण पत्र
  5. मोबाइल नंबर
  6. पासपोर्ट साइज फोटो

Mukhyamantri Beej Swavalamban Yojana 2024 के तहत आवेदन करने की प्रक्रिया

  • मुख्यमंत्री स्वावलंबन योजना का लाभ लेने के लिए आपको पहले अपने जिले के कृषि विभाग या कृषि विज्ञान केंद्र में जाना होगा।
  • वहा आपको इस योजना के तहत आवेदन करने के लिए वहां जाकर आवेदन फॉर्म प्राप्त करना होगा।
  • आवेदन फॉर्म   प्राप्त करने के बाद आपको सभी आवश्यक जानकारी दर्ज करनी होगी।
  • सभी विवरण दर्ज करने के बाद, आवेदन फॉर्म के साथ सभी आवश्यक दस्तावेजों को संलग्न करना होगा।
  • इसके बाद, आपको इस आवेदन फॉर्म को वही स्थान पर वापस जमा करना होगा जहां से वह प्राप्त हुआ था।
  • मुख्यमंत्री बीज स्वावलंबन योजना के तहत आवेदन करना इस तरह पूरा होजाएगा ।
  • आवेदन फॉर्म सत्यापित होने पर आपको इस योजना का लाभ मिलेगा।

सारांश (Summay)

तो दोस्तों, हमने आपको इस आर्टिकल के माध्यम से (Mukhyamantri Beej Swavalamban Yojana Rajasthan:किसानों को मिलेगा मुफ्त बीज व अन्य सहायता) की सभी जानकारी को विस्तार पूर्वक बता दिया है। यदि आपको जानकारी पसंद आई हो तो आप हमें मैसेज करके बता सकते हैं और इसके अलावा यदि आपको कोई भी समस्या या योजना से जुड़े सवालों के जवाब जानने हैं तो आप हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट करके बता सकते हैं।हमारी टीम आपके सभी सवालों का जवाब देने की कोशिश जरूर करेगी।

ध्यान दें :– ऐसे ही केंद्र सरकार और राज्य सरकार के द्वारा शुरू की गई नई या पुरानी सरकारी योजनाओं की जानकारी हम सबसे पहले अपने इस वेबसाइट सरकारी योजनाये के माध्यम से देते हैं तो आप हमारे वेबसाइट को फॉलो करना ना भूलें ।

अगर आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया है तो इसे Like और Share जरूर करें ।

इस आर्टिकल को अंत तक पढ़ने के लिए धन्यवाद…

Posted By – Surendra Jain

FAQs

मुख्यमंत्री बीज स्वावलंबन योजना की शुरुआत कब हुई?

राज्य में किसानों द्वारा स्वयं के उपयोग हेतु उनके खेतों पर गुणवत्तायुक्त उन्नत बीज उत्पादन को बढ़ावा देने के उद्देश्य सेMukhyamantri Beej Swavalamban Yojana 2017-18 में शुरू की गई थी। इस योजना की क्रियान्विति ने पहले तो कोटा, भीलवाड़ा, और उदयपुर कृषि खंडों के जिलों में पायलट प्रोजेक्ट के रूप में प्रारंभ की गई।

Mukhyamantri Beej Swavalamban Yojana क्या है ?

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जी द्वारा शुरू की गई मुख्यमंत्री बीज स्वावलंबन योजना राजस्थान के किसानों को सरकारी सहायता प्रदान करने का एक प्रमुख कदम है। इस योजना के माध्यम से कृषि विभाग द्वारा राज्य के किसानों को समृद्धि में मदद करने का लक्ष्य रखा गया है। कृषि विभाग द्वारा 30 से 50 किसानों का समूह बनाया जाता है

 

Leave a Reply