Indira Gandhi Shahari Rojgar Guarantee Yojana:इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना

Indira Gandhi Shahari Rojgar Guarantee Yojana

Indira Gandhi Shahari Rojgar Guarantee Yojana:इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना 2024: ऑनलाइन आवेदन, पात्रता व लाभार्थी

Indira Gandhi Shahari Rojgar Guarantee Yojana एक महत्वपूर्ण सरकारी योजना है जो राजस्थान सरकार द्वारा आरंभ की गई है। इस योजना के तहत शहरी क्षेत्रों में नियुक्ति के लिए स्वरोजगार के अवसर प्रदान किए जा रहे हैं। योजना का मुख्य उद्देश्य शहरी क्षेत्रों में मनरेगा के तर्ज पर रोजगार की गारंटी प्रदान करना है, जिससे शहरी नागरिकों को 100 दिन का रोजगार मिले। इसके अंतर्गत विभिन्न प्रशिक्षण कार्यक्रमों का आयोजन भी किया जाएगा। इस योजना से लाभान्वित होने के लिए लोगों को अपने स्थानीय पंचायत या नगरपालिका के कार्यालय में आवेदन करना होगा। यह योजना शहरी क्षेत्रों में रोजगार को बढ़ावा देने का प्रयास कर रही है और शहरी नागरिकों को स्वरोजगार के लिए एक सुरक्षित और स्थायी विकल्प प्रदान कर रही है।

Indira Gandhi Shahari Rojgar Guarantee Yojana  क्या है ?

राजस्थान सरकार ने Indira Gandhi Shahari Rojgar Guarantee Yojana का शुभारंभ किया है जिसके माध्यम से शहरी क्षेत्रों में रोजगार के अवसरों को बढ़ावा देने का प्रयास किया जा रहा है। इस योजना के तहत आने वाले वर्ष से शहरी क्षेत्रों में मनरेगा की तर्ज पर मांगे जाने वाले काम पर 100 दिन का रोजगार प्रदान किया जाएगा। इसके लिए सरकार ने 800 करोड़ रुपए का बजट आवंटित किया है।

Indira Gandhi Shahari Rojgar Guarantee Yojana पहले ग्रामीण क्षेत्रों में संचालित हो रही थी, लेकिन अब इसे शहरी क्षेत्रों में निवास करने वाले नागरिकों के लिए भी लागू किया जाएगा। इसका उद्देश्य शहरी क्षेत्रों के बेरोजगार नागरिकों को रोजगार प्रदान करना है और उन्हें उनके निवास क्षेत्र में स्थायी रूप से स्थापित करना है।

इसके अलावा, शहरी क्षेत्रों के नागरिकों को उनके निवास स्थान के पास रोजगार के अवसरों को सुनिश्चित करने के लिए उनके निकट स्थानों पर काम दिलाने का प्रयास किया जाएगा। इससे शहरी परिवारों को आर्थिक समर्थन प्रदान करने में मदद मिलेगी और उनका जीवनस्तर सुधारेगा। इस योजना के माध्यम से प्रदेश के नागरिकों के जीवन में सकारात्मक बदलाव आने की उम्मीद है।

Indira Gandhi Shahari Rojgar Guarantee Yojana के अंतर्गत अब मिलेगा 125 दिन रोजगार

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना को मंजूरी देने का प्रस्ताव दिया। इस योजना के तहत अब शहरी क्षेत्रों में निवास करने वाले नागरिकों को 125 दिनों का रोजगार प्रदान किया जाएगा, जो पहले की घोषणा की गई 100 दिनों से अधिक है। इसके लिए सरकार को 1 अप्रैल 2023 से 11100 करोड़ रुपए का वित्तीय बोझ उठाना पड़ेगा।

पहले से ही इस योजना के अंतर्गत 100 दिनों का रोजगार प्रदान करने पर सरकार को करीब 800 करोड़ रुपए का वित्तीय बोझ उठाना पड़ता था, लेकिन अब इसमें 25 दिनों की और वृद्धि होने से 1100 करोड़ रुपए का वित्तीय भार होगा। यह योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए जन आधार कार्ड के माध्यम से पंजीकरण करवाया जा सकता है।

इस विधिवत एवं आधिकारिक विवरण के अलावा, स्थानीय समाचार स्रोतों या सरकारी अधिसूचनाओं से अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए संपर्क करें।

Indira Gandhi Shahari Rojgar Guarantee Yojana का उद्देश्य

इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना का मुख्य उद्देश्य है प्रदेश के शहरी क्षेत्रों में रहने वाले नागरिकों को गारंटीकृत रोजगार प्रदान करना। इसके माध्यम से राजस्थान के नागरिक न केवल ग्रामीण इलाकों में बल्कि शहरी क्षेत्रों में भी मनरेगा योजना का लाभ प्राप्त कर सकेंगे। यह योजना देशभर में रोजगार की सुनिश्चितता में मदद करने के लिए एक कारगर पहल है।

इस योजना के माध्यम से शहरी क्षेत्र के नागरिकों को गारंटीकृत रूप से 125 दिनों का रोजगार प्रदान किया जाएगा, जिससे उन्हें आर्थिक स्थिति में सुधार हो सके। यह योजना शहरी क्षेत्र के नागरिकों को सशक्त और आत्मनिर्भर बनाने में मदद करेगी। इसके अलावा, यह लाभार्थियों के जीवन स्तर में भी सुधार लाएगी।

Indira Gandhi Shahari Rojgar Guarantee Yojana की जानकारी

योजना का नाम Indira Gandhi Shahari Rojgar Yojana
वर्ष 2023
राज्य का नाम राजस्थान
शुरुआत कब हुई 9 सितंबर 2022
लाभार्थी नागरिक राजस्थान के बेरोजगार नागरिक
रोजगार के दिनों की संख्या 100 से 125 दिन
उद्देश्य राज्य के सभी असहाय और आर्थिक रूप से पिछड़े हुए
गरीब नागरिकों को रोजगार प्रदान करना
आवेदन करने का मोड ऑनलाइन
किसने आरंभ की मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने
आधिकारिक वेबसाइट https://irgyurban.rajasthan.gov.in/

 

इस योजनाओं के बारे में भी जाने 

[catlist]

Indira Gandhi Shahari Rojgar Guarantee Yojana की शुरुआत

इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना 2022 का आरंभ 9 सितंबर 2022 को किया गया है, जिसका उद्देश्य राजस्थान सरकार के द्वारा शहरी क्षेत्रों में रहने वाले लोगों को रोजगार प्रदान करना है। इसके लिए राजस्थान सरकार ने वित्तीय वर्ष 2022-2023 के लिए 800 करोड़ का बजट प्रदान किया है।

योजना के तहत नए दिशा निर्देशों के अनुसार, योजना का लाभ उठा सकने के लिए व्यक्ति को स्थानीय निकाय क्षेत्र में निवास करना चाहिए और उसकी आयु 18 से 60 वर्ष के बीच होनी चाहिए। इसमें खासकर आर्थिक रूप से कमजोर, असहाय और बेरोजगार परिवारों के नागरिकों को ध्यान में रखा गया है।

इस योजना में पंजीकरण करने के लिए Indira Gandhi Shahari Rojgar Guarantee Yojana की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर अपने जन आधार कार्ड के आधार पर आवेदन करना होगा।

Indira Gandhi Shahari Rojgar Guarantee Yojana के लाभ तथा विशेषताएं

  •  राजस्थान सरकार ने इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना की शुरुआत की है।
  •  शहरी क्षेत्रों में मनरेगा की तर्ज पर काम करने वालों को 100 दिन का रोजगार प्रदान किया जाएगा।
  • इस योजना के लिए 800 करोड़ रुपए का बजट आवंटित किया गया है, जिससे शहरी क्षेत्रों के नागरिकों को रोजगार के अधिक अवसर मिलेंगे।
  • यह योजना ग्रामीण क्षेत्रों में से बाहर निवास करने वाले लोगों के लिए एक सुनहरा अवसर प्रदान करने का प्रयास है ।
  • इससे शहरी परिवारों को संबल प्राप्त हो सकता है। इसके माध्यम से नौकरी के लिए मांग पूरी की जा सकती है और नागरिकों के जीवन में सकारात्मक परिवर्तन लाया जा सकता है।
  • Indira Gandhi Shahari Rojgar Guarantee Yojana के माध्यम से शहरी क्षेत्रों के बेरोजगार नागरिकों को रोजगार प्रदान करने का प्रयास किया जा रहा है।
  • इस योजना के अंतर्गत 100 से 125 दिनों तक का रोजगार प्रदान किया जाएगा।
  • यह योजना शहरी क्षेत्रों के नागरिकों को उनके निवास क्षेत्र के पास रोजगार उपलब्ध करवाने का प्रयास करेगी, जिससे कि शहरी परिवारों को संबल प्रदान हो सके।
  • इस योजना के माध्यम से नागरिकों के जीवन स्तर में सुधार भी होने की उम्मीद है।
  • बजट घोषणा के अनुसार, इस योजना के लिए राजस्थान सरकार द्वारा करीब 700 करोड़ रुपए का वित्त प्रदान किया जाएगा।
  • इससे श्रमिकों को राज्य सरकार द्वारा सामाजिक सुरक्षा प्रदान करने में मदद मिलेगी और उन्हें अधिक समय के लिए रोजगार का लाभ होगा।
  • Indira Gandhi Shahari Rojgar Guarantee Yojana का मुख्य उद्देश्य शहरी क्षेत्रों में रहने वाले बेरोजगार नागरिकों को नियमित रोजगार प्रदान करना है। इस योजना के अंतर्गत, इन नागरिकों को 125 दिनों तक का रोजगार मिलेगा।
  • मनरेगा को 1991 में प्रस्तावित किया गया था और 2006 में इसे संसद में स्वीकृति मिली थी।
  • यह योजना देशभर में सभी जिलों में कार्यान्वित की जाती है
  • दुनिया का सबसे बड़ा और सबसे महत्वपूर्ण सामाजिक सुरक्षा और सार्वजनिक कार्यक्रम माना जाता है।
  • इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना शहरी क्षेत्रों के लोगों को भी समाहित करके उन्हें रोजगार प्रदान करने का प्रयास कर रही है, जिससे शहरी क्षेत्रों के नागरिकों को भी सामाजिक सुरक्षा मिले और उनका जीवन स्तर बेहतर हो।

Indira Gandhi Shahari Rojgar Guarantee Yojana में निम्न काम होंगे

पौधरोपण एवं बागवानी:

  • पौधरोपण एवं बागवानी में सहायता करने के लिए स्थानीय कृषि विभाग से संपर्क करें। वे आपको सही पौधे और बागवानी तकनीकों के बारे में मार्गदर्शन प्रदान कर सकते हैं।

पौधों की कटाई/छंटाई:

  • स्थानीय वन्यजन संरक्षण विभाग से सहायता प्राप्त करें और किसी भी प्राकृतिक वन्यजन की कटाई या छंटाई के लिए अनुमति प्राप्त करें।

घर-घर कचरा संग्रहण:

  • Indira Gandhi Shahari Rojgar Guarantee Yojana के  तहत स्थानीय नगर पालिका या नगर निगम से संपर्क करें और घर-घर कचरा संग्रहण योजना के बारे में जानकारी प्राप्त करें।

रेनवाटर हार्वेस्टिंग स्ट्रक्चर निर्माण/मरम्मत/सफाई:

  • स्थानीय जल संगठन या जल विभाग से संपर्क करें और वर्षा जल संग्रहण (रेनवाटर हार्वेस्टिंग) स्ट्रक्चर की मरम्मत और निर्माण के लिए मार्गदर्शन प्राप्त करें।

पृथक्करण के लिए श्रमिक कार्य:

  • स्थानीय श्रम विभाग से संपर्क करें और पृथक्करण के परियोजनाओं में श्रमिक कार्य में शामिल होने के लिए आवेदन करें।

सफाई से संबंधित कार्य:

  • स्थानीय नगर पालिका या नगर निगम से संपर्क करें और सफाई से संबंधित परियोजनाओं में सहायक के रूप में आवेदन करें।

एसडब्लूएम ठोस कचरा प्रबंधन:

  • स्थानीय प्रशासन या पर्यावरण संरक्षण विभाग से संपर्क करें और ठोस कचरा प्रबंधन के लिए निर्देश प्राप्त करें।

जल स्रोतों का पुनरुद्धार:

  • स्थानीय जल संगठन या जल विभाग से संपर्क करें और जल स्रोतों का पुनरुद्धार के परियोजनाओं में शामिल होने के लिए जानकारी प्राप्त करें।

तालाब, बावड़ी, कुआं की मिट्टी निकालना/सफाई करना:

  • स्थानीय जल संगठन या जल विभाग से संपर्क करें और तालाब, बावड़ी, कुआं की मिट्टी निकालने या सफाई करने के लिए निर्देश प्राप्त करें।

Indira Gandhi Shahari Rojgar Guarantee Yojana पात्रता

  • इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना के अंतर्गत आवेदन करने के लिए आपको राजस्थान राज्य का मूल निवासी होना चाहिए।
  • योजना का लाभ लेने के लिए आवेदक शहरी क्षेत्र का होना चाहिए।
  • इस योजना का लाभ केवल 18 से 60 वर्ष के बेरोजगार लोग ही उठा सकेंगे।
  • इसके लिए आपके पास जन आधार नंबर या जन आधार पंजीकरण रसीद होनी चाहिए।
  • यदि आपके पास जन आधार नहीं है तो आप अपने नजदीकी ई-मित्र केंद्र के माध्यम से या सीधे यहां क्लिक करके ऐसा कर सकते हैं।

Indira Gandhi Shahari Rojgar Guarantee Yojana महत्वपूर्ण दस्तावेज

  • आवेदक राजस्थान का स्थाई निवासी होना चाहिए।
  • आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ
  • मोबाइल नंबर
  • आय प्रमाण पत्र
  • आयु का प्रमाण
  • ईमेल आईडी आदि

Indira Gandhi Shahari Rojgar Guarantee Yojana के अंतर्गत आवेदन करने की प्रक्रिया

  • पहले आपको प्रोग्राम की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा
  • आपकी स्क्रीन पर होम पेज खुल जाएगा

image 3

  • इसके बाद आपको हम किस पर मौजूद कार्य हेतु आवेदन के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा
  • फिर आपके सामने एक नया पेज खुल कर सामने आ जाएगा
  • जिसके बाद आप अपना जन आधार कार्ड/जन आधार नामांकन आईडी दर्ज करे

image 4

  • यदि आपके पास जन आधार नहीं है तो आप अपने नजदीकी ई-मित्र केंद्र के माध्यम से या सीधे यहां क्लिक करके ऐसा कर सकते हैं।
  • इसके बाद, आपको आवेदन पत्र से सभी आवश्यक जानकारी प्रदान करनी होगी।
  • आपको सभी आवश्यक दस्तावेज अपलोड करने होंगे।
  • अंत में आपको सबमिट विकल्प पर क्लिक करना होगा।

सारांश (Summay)

तो दोस्तों, हमने आपको इस आर्टिकल के माध्यम से बताया कि कैसे आप (Indira Gandhi Shahari Rojgar Guarantee Yojana:इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना) की सभी जानकारी को विस्तार पूर्वक बता दिया है।यदि आपको जानकारी पसंद आई हो तो आप हमें मैसेज करके बता सकते हैं और इसके अलावा यदि आपको कोई भी समस्या या योजना से जुड़े सवालों के जवाब जानने हैं तो आप हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट करके बता सकते हैं।हमारी टीम आपके सभी सवालों का जवाब देने की कोशिश जरूर करेगी।

ध्यान दें :– ऐसे ही केंद्र सरकार और राज्य सरकार के द्वारा शुरू की गई नई या पुरानी सरकारी योजनाओं की जानकारी हम सबसे पहले अपने इस वेबसाइट सरकारी योजनाये के माध्यम से देते हैं तो आप हमारे वेबसाइट को फॉलो करना ना भूलें ।

अगर आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया है तो इसे Like और Share जरूर करें ।

FAQ’s :

इंदिरा गांधी शहरी रोजगार योजना कब से शुरू हुई?

इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना 2022 ने 9 सितंबर 2022 से शुरू होकर राज्य की नगरीय सीमा में रहने वाले विशेष रूप से आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों के असहाय और बेरोजगार युवाओं को संबल प्रदान करने का लक्ष्य रखा है।

रोजगार गारंटी में कितना पैसा मिलता है?

केंद्र सरकार ने वित्त वर्ष 2023-24 के लिए ग्रामीण रोजगार गारंटी कार्यक्रम (Rural Employment Guarantee Program) के तहत मजदूरी दरों में वृद्धि की घोषणा की है। हरियाणा में सबसे अधिक मजदूरी 357 रुपये प्रति दिन मिलेगी, जबकि मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में सबसे कम मजूदरी 221 रुपये प्रति दिन है।

Indira Gandhi Shahari Rojgar Guarantee Yojana किस राज्य में लागू होती है?
राजस्थान सरकार अपनी बहुप्रचारित इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना के तहत नौकरी विवरण लेकर आई है।

Indira Gandhi Shahari Rojgar Guarantee Yojana का उद्देश्य

इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना का मुख्य उद्देश्य है प्रदेश के शहरी क्षेत्रों में रहने वाले नागरिकों को गारंटीकृत रोजगार प्रदान करना। इसके माध्यम से राजस्थान के नागरिक न केवल ग्रामीण इलाकों में बल्कि शहरी क्षेत्रों में भी मनरेगा योजना का लाभ प्राप्त कर सकेंगे।

Leave a Reply