Pm Kisan Yojna : पीएम किसान योजना, 17वीं किस्त से पहले सरकार करेगी समीक्षा, जानें इसके कारण

Pm Kisan Yojna
Pm Kisan Yojna

Pm Kisan Yojna पीएम किसान योजना : सरकार करेगी डीबीटी प्रणाली के तहत योजना का मूल्यांकन, देखे पूरी जानकारी 

Pm Kisan Yojna :-  केन्द्र सरकार की ओर से किसानों के हित में कई योजनाएं चलाई जा रही हैं लेकिन इन सभी योजनाओं में पीएम किसान योजना (PM Kisan Yojana) विशेष रूप से लोकप्रिय है। इस योजना की विशिष्टता यह है कि इसके तहत किसानों को हर साल 6,000 रुपए की आर्थिक सहायता सीधे उनके बैंक खाते में जमा की जाती है। अब तक इस योजना की 16 किस्तें किसानों को मिल चुकी हैं और अब वे 17वीं किस्त का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं।

हाल ही में पीएम किसान योजना से जुड़ी एक महत्वपूर्ण खबर सामने आई है कि सरकार 17वीं किस्त जारी करने से पहले इस योजना का मूल्यांकन करेगी। इसके लिए नीति आयोग के विकास निगरानी और मूल्यांकन कार्यालय (डीएमईओ) ने इस योजना के मूल्यांकन के लिए बोलियां आमंत्रित की हैं। जानकारी के अनुसार केंद्र सरकार हर साल इस योजना पर लगभग 60,000 करोड़ रुपए खर्च करती है। इस योजना का मुख्य उद्देश्य सीमांत और आर्थिक रूप से कमजोर किसानों को वित्तीय सहायता प्रदान करना है।

Pm Kisan Yojna : योजना के मूल्यांकन के पीछे क्या है वजह

Pm Kisan Yojna :- इकोनॉमिक्स टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक एक वरिष्ठ सरकारी अधिकारी ने बताया कि योजना का मूल्यांकन करने का मुख्य उद्देश्य यह जानना है कि इस योजना से किस हद तक किसानों की वित्तीय जरूरतों को पूरा किया गया है। पीएम किसान योजना (PM Kisan Yojana) का मूल्यांकन इस बात का आकलन करेगा कि इससे किसानों की आय पर कितना सकारात्मक प्रभाव पड़ा है। साथ ही यह समझने का प्रयास किया जाएगा कि प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरण (डीबीटी) प्रणाली किसानों की जरूरतों को पूरा करने का एक आदर्श तरीका है या नहीं।

इस मूल्यांकन से यह भी पता चलेगा कि योजना के कार्यान्वयन में कोई सुधार की आवश्यकता है या नहीं और यदि हां तो कौन से क्षेत्र हैं जिनमें सुधार किया जा सकता है। इससे सरकार को यह समझने में मदद मिलेगी कि क्या योजना अपने उद्देश्यों को पूरा कर रही है और क्या इसमें कोई बदलाव करने की जरूरत है ताकि यह अधिक प्रभावी और लाभदायक बन सके।

Pm Kisan Yojna : योजना के मूल्यांकन की अवधि कितनी होगी

Pm Kisan Yojna :- अधिकारी के अनुसार हम पीएम किसान योजना (PM Kisan Yojana) में राज्यवार नामांकन की सीमा का मूल्यांकन करने और लाभार्थियों के बहिष्कार और समावेशन की त्रुटियों का आकलन करने की योजना बना रहे हैं। उन्होंने बताया कि इस मूल्यांकन की समय अवधि छह महीने रखी गई है। योजना के तहत 2022-23 में 107.1 मिलियन लाभार्थी थे।

मूल्यांकन के लिए योजना की पहले और बाद की स्थिति का विश्लेषण किया जाएगा जिसमें अध्ययन के प्राथमिक घटक की संदर्भ अवधि 2020-21 से 2023-24 तक होगी। वहीं माध्यमिक अध्ययन की संदर्भ अवधि 2017 से 2023 तक होगी। इस व्यापक मूल्यांकन से यह सुनिश्चित किया जाएगा कि योजना की प्रभावशीलता और कार्यान्वयन में किसी प्रकार की त्रुटियां हैं या नहीं और इसके आधार पर सुधारात्मक कदम उठाए जा सकें।

Pm Kisan Yojna : सर्वेक्षण में कितने राज्यों को किया जाएगा शामिल

Pm Kisan Yojna :- पीएम किसान योजना (PM Kisan Yojana) के मूल्यांकन के लिए सर्वेक्षण में 24 राज्यों के कम से कम 5 हजार किसानों को शामिल किया जाएगा। इनमें से शीर्ष 17 राज्यों में लगभग 95 प्रतिशत पीएम किसान लाभार्थी शामिल हैं। सरकार ने इस योजना के लिए वर्ष 2024-25 के लिए 60,000 करोड़ रुपए का बजट निर्धारित किया है जो पिछले वित्तीय वर्ष के बजटीय और संशोधित अनुमान के समान है।

इस सर्वेक्षण का मुख्य उद्देश्य योजना की प्रभावशीलता और किसानों पर इसके प्रभाव का आकलन करना है। इसके जरिए यह समझने की कोशिश की जाएगी कि पीएम किसान योजना से किसानों की वित्तीय स्थिति में कितना सुधार हुआ है और क्या प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरण (डीबीटी) प्रणाली उनकी जरूरतों को पूरा करने का सबसे उपयुक्त तरीका है।

सर्वेक्षण के नतीजे सरकार को नीतिगत बदलावों और सुधारों को लागू करने में मदद करेंगे ताकि योजना और अधिक प्रभावी और लाभकारी बन सके। इस प्रक्रिया से योजना के कार्यान्वयन में किसी प्रकार की त्रुटियां और कमियों का पता चल सकेगा, जिससे आवश्यक सुधार किए जा सकेंगे।

Pm Kisan Yojna : क्या है पीएम किसान योजना

Pm Kisan Yojna :- पीएम किसान योजना (PM Kisan Yojana) केंद्र सरकार की महत्वाकांक्षी योजना है जिसकी शुरुआत 1 दिसंबर 2018 को हुई। इसके तहत किसानों को प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना (Pradhan Mantri Kisan Samman Nidhi Yojana) का लाभ दिया जाता है। इस योजना के अंतर्गत देश के गरीब और जरूरतमंद पात्र किसानों जिनके पास खेती योग्य भूमि है को हर साल 6,000 रुपए की आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है। यह राशि किसानों को तीन समान किस्तों में हर चार माह के अंतराल में दी जाती है।

हालांकि राजस्थान और मध्य प्रदेश में इस योजना के तहत किसानों को हर साल 8,000 रुपए दिए जा रहे हैं। इसका कारण यह है कि विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा ने अपने घोषणा पत्र में यहां के किसानों को चार किस्तें देने का वादा किया था। हालांकि अतिरिक्त किस्त का खर्च राज्य अपने बजट से वहन करेगा।

पीएम किसान योजना का उद्देश्य सीमांत और आर्थिक रूप से कमजोर किसानों को वित्तीय सहायता प्रदान कर उनकी आर्थिक स्थिति को सुधारना है जिससे वे अपनी खेती संबंधी जरूरतों को पूरा कर सकें और कृषि उत्पादन को बढ़ावा दे सकें।

Pm Kisan Yojna : कब आएगी पीएम किसान योजना की 17वीं किस्त

Pm Kisan Yojna :- प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना (PM Kisan Samman Nidhi Yojana) की 16वीं किस्त 28 फरवरी 2024 को जारी की गई थी जिसमें 9 करोड़ से अधिक किसानों के खाते में 21 हजार करोड़ रुपए से अधिक की राशि ट्रांसफर की गई थी। अब किसानों को इस योजना की 17वीं किस्त का इंतजार है।

पिछली किस्त फरवरी के अंत में जारी की गई थी इसे ध्यान में रखते हुए अनुमान लगाया जा सकता है कि पीएम किसान सम्मान निधि योजना की 17वीं किस्त जून 2024 के आखिरी सप्ताह या जुलाई में किसानों को मिल सकती है।

वर्तमान में लोकसभा चुनाव चल रहे हैं और 4 जून को उनके परिणाम आने वाले हैं। इसके बाद नई सरकार का गठन होगा। इसलिए किसानों को इस बार पीएम किसान योजना की 17वीं किस्त के लिए थोड़ा और इंतजार करना पड़ सकता है।

FAQ’s

पीएम किसान का फोन नंबर क्या है ? 

पीएम किसान योजना (PM Kisan Yojana) से संबंधित जानकारी या सहायता के लिए आप निम्नलिखित फोन नंबरों पर संपर्क कर सकते हैं:

  1. 155261
  2. 011-24300606

ये हेल्पलाइन नंबर आपको योजना से संबंधित किसी भी सवाल या समस्या के समाधान में मदद करेंगे।

पीएम किसान की अगली किस्त में कितनी राशि दी जाएगी ? 

पीएम किसान योजना (PM Kisan Yojana) के तहत पात्र किसानों को प्रति वर्ष 6,000 रुपये की वित्तीय सहायता प्रदान की जाती है जो तीन किस्तों में दी जाती है। प्रत्येक किस्त की राशि 2,000 रुपये होती है और यह हर चार महीने/तिमाही में जारी की जाती है।

अगली किस्त के बारे में जानकारी निम्नलिखित है:

  • किस्त की राशि : 2,000 रुपये
  • किस्त की अवधि : अप्रैल-जुलाई, अगस्त-नवंबर और दिसंबर-मार्च

इस प्रकार, पात्र किसानों को हर चार महीने के अंतराल पर 2,000 रुपये की किस्त प्राप्त होती है, जिससे वे साल भर में कुल 6,000 रुपये प्राप्त करते हैं। अगली किस्त की राशि भी 2,000 रुपये होगी, जो निर्धारित समय पर किसानों के बैंक खातों में ट्रांसफर की जाएगी।

सारांश (Summay)

तो दोस्तों, हमने आपको इस आर्टिकल के माध्यम से (Pm Kisan Yojna : पीएम किसान योजना, 17वीं किस्त से पहले सरकार करेगी समीक्षा, जानें इसके कारण ) की सभी जानकारी को विस्तार पूर्वक बता दिया है। यदि आपको जानकारी पसंद आई हो तो आप हमें मैसेज करके बता सकते हैं और इसके अलावा यदि आपको कोई भी समस्या या योजना से जुड़े सवालों के जवाब जानने हैं तो आप हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट करके बता सकते हैं। हमारी टीम आपके सभी सवालों का जवाब देने की कोशिश जरूर करेगी।

ध्यान दें :– ऐसे ही केंद्र सरकार और राज्य सरकार के द्वारा शुरू की गई नई या पुरानी सरकारी योजनाओं की जानकारी हम सबसे पहले अपने इस वेबसाइट सरकारी योजनाये के माध्यम से देते हैं तो आप हमारे वेबसाइट को फॉलो करना ना भूलें ।

अगर आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया है तो इसे Like और Share जरूर करें ।

इस आर्टिकल को अंत तक पढ़ने के लिए धन्यवाद

Leave a Reply