Rajasthan nirman shramik shiksha evm kaushal vikas yojna : राजस्थान निर्माण श्रमिक शिक्षा व कौशल विकास योजना

Rajasthan nirman shramik shiksha evm kaushal vikas yojna
Rajasthan nirman shramik shiksha evm kaushal vikas yojna
Contents hide

rajasthan nirman shramik shiksha evm kaushal vikas yojna : राजस्थान निर्माण श्रमिक शिक्षा व कौशल विकास योजना ऑनलाइन आवेदन, लाभ, पात्रता जानकारी –

Rajasthan nirman shramik shiksha evm kaushal vikas yojna : राजस्थान निर्माण श्रमिक शिक्षा और कौशल विकास योजना राज्य सरकार की प्रमुख योजनाओ में से एक है जो राज्य के निर्माण क्षेत्र में कुशलता को बढ़ावा देने के लिए बनाई की गई है। यह योजना न केवल उन लोगों को अवसर प्रदान करती है जो निर्माण कार्यों में काम करते हैं बल्कि उन युवाओं को भी समर्पित है जो इस क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहते हैं। इस योजना के अंतर्गत विभिन्न प्रशिक्षण केंद्रों में शिक्षा प्रदान की जाती है जो कि निर्माण क्षेत्र में विभिन्न कामों के लिए अनिवार्य है। यहां छात्रों को अधिकृत प्रशिक्षकों द्वारा प्रशिक्षित किया जाता है जो उन्हें नए तकनीकी ज्ञान और कौशलों के साथ संपन्न करते हैं।

इस योजना का उद्देश्य राजस्थान के निर्माण क्षेत्र में कुशल श्रमिकों की आवश्यकताओं को पूरा करना है ताकि वहाँ कार्य को अधिक गुणवत्तापूर्ण और सुरक्षित बनाया जा सके। इसके अलावा यह योजना युवाओं को स्वरोजगार के अवसर प्रदान करती है और उन्हें आत्मनिर्भर बनाने का माध्यम उपलब्ध कराती है। राजस्थान निर्माण श्रमिक शिक्षा और कौशल विकास योजना के तहत सरकार प्रत्येक व्यक्ति को वित्तीय सहायता और प्रोत्साहन प्रदान करती है ताकि वह अपने हुनर को और बेहतर बना सके और अपने करियर को नई ऊँचाइयों तक ले जा सके। इस योजना के माध्यम से राजस्थान सरकार निर्माण क्षेत्र में उत्कृष्टता की ओर एक महत्वपूर्ण कदम बढ़ा रही है और राज्य के युवा वर्ग को सकारात्मक दिशा में अग्रसर करने के लिए प्रेरित कर रही है।

योजना का उदेश्य – निर्माण श्रमिकों के बच्चो का शिक्षा की और प्रोत्साहन बढ़ाना – 

योजना का मुख्य उद्देश्य है कि निर्माण श्रमिकों के बच्चों की शिक्षा को प्रोत्साहित किया जाए। इस योजना के अंतर्गत बच्चों को उनके शैक्षणिक योग्यता को बढ़ाने के लिए जोर दिया जाना है । उन्हें शिक्षा के क्षेत्र में अधिक रूचि और उत्साहित किया जाता है ताकि वे अपने स्वप्नों को पूरा कर सकें। इस योजना के तहत विभिन्न शिक्षा संस्थानों और प्रशिक्षण केंद्रों में बच्चों को शिक्षा के माध्यम से कौशल विकास का अवसर प्रदान किया जाता है। इसके लिए उच्च गुणवत्ता वाले शिक्षा कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है जो बच्चों को विभिन्न क्षेत्रों में विशेषज्ञता प्राप्त करने में मदद करते हैं।

इस योजना के माध्यम से सरकार निर्माण क्षेत्र में काम करने वाले श्रमिकों के परिवारों को आर्थिक सहायता भी प्रदान करती है ताकि उनके बच्चों की शिक्षा में कोई रुकावट न आए। इसके अलावा यह योजना उन बच्चों को भी समर्पित है जिनके परिवार में आर्थिक संकट होने के कारण उनकी शिक्षा का पूरा ध्यान नहीं जा पाता। इस प्रकार योजना का मूल उद्देश्य है कि निर्माण क्षेत्र में काम करने वाले श्रमिकों के बच्चों को शिक्षा की प्राप्ति में सहायता प्रदान की जाए ताकि उनका भविष्य सुरक्षित और समृद्ध हो सके।

(Rajasthan nirman shramik shiksha evm kaushal vikas yojna) योजना के अंतर्गत लाभार्थी को छात्रवृत्ति तथा नकद पुरस्कार प्रदान किए जाएगे –

यह योजना निर्माण श्रमिकों के बच्चों की शिक्षा को बढ़ाने और उन्हें प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से चालू की गई है। इसके अंतर्गत लाभार्थी के बच्चो को विभिन्न शिक्षा संस्थानों में छात्रवृत्ति के रूप में सहायता प्रदान की जाएगी ताकि वे अच्छी शिक्षा प्राप्त कर सकें। साथ ही उन्हें नकद पुरस्कार भी प्रदान किया जाएगा जो उनकी पढ़ाई में और भी उत्साह और प्रेरणा भरेगा। यह प्रोग्राम न केवल शिक्षा के क्षेत्र में उनकी गतिविधियों को बढ़ावा देगा बल्कि उनके सामाजिक और आर्थिक विकास में भी सहायक होगा। इसके माध्यम से समाज में शिक्षित और सक्षम नागरिकों की संख्या बढ़ेगी जो न केवल उनके व्यक्तिगत विकास में मदद करेगी बल्कि समाज के विकास में भी महत्वपूर्ण योगदान देगी। इस योजना के माध्यम से निर्माण क्षेत्र के श्रमिकों के परिवारों की आर्थिक स्थिति में भी सुधार होगा क्योंकि उनके बच्चों को बेहतर शिक्षा का अवसर मिलेगा।

Rajasthan nirman shramik shiksha evm kaushal vikas yojna का संचालन : –

राजस्थान निर्माण श्रमिक शिक्षा और कौशल विकास योजना राजस्थान के श्रम विभाग द्वारा संचालित की जा रही है। यह योजना राज्य में निर्माण क्षेत्र में काम करने वाले श्रमिकों के बच्चो के लिए शिक्षा और कौशल विकास के अवसरों को बढ़ावा देने का उद्देश्य रखती है। इसके माध्यम से निर्माण क्षेत्र में काम करने वाले लोगों को उनके कौशलों को निखारने और उन्हें नई तकनीकों से अवगत कराने का अवसर मिलेगा। यह योजना उन लोगों के लिए भी महत्वपूर्ण है जो निर्माण क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहते है, क्योंकि इसके माध्यम से उन्हें विभिन्न प्रशिक्षण कार्यक्रमों का लाभ मिलेगा। इसके साथ ही यह योजना राजस्थान के श्रमिक समुदाय के सामाजिक और आर्थिक विकास में भी महत्वपूर्ण योगदान करेगी।

Rajasthan nirman shramik shiksha evm kaushal vikas yojna निम्नलिखित योजनाओ को सम्मलित कर बनाई गई है :

राजस्थान निर्माण श्रमिक शिक्षा और कौशल विकास योजना एक महत्वपूर्ण पहल है जो राज्य के निर्माण क्षेत्र में कौशल और शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए शुरू की गई है। इस योजना को विभिन्न योजनाओं को समाहित कर बनाया गया है जिनमें निम्नलिखित योजनाएं शामिल हैं:

  1. कौशल विकास प्रशिक्षण : इस योजना के अंतर्गत निर्माण क्षेत्र में काम करने वाले लोगों को विभिन्न कौशलों का प्रशिक्षण दिया जाएगा जिससे उनकी कार्य क्षमता में सुधार होगा।
  2. छात्रवृत्ति योजना: यह योजना निर्माण क्षेत्र में काम करने वाले छात्रों को शिक्षा के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करेगी ताकि वे अच्छी शिक्षा प्राप्त कर सकें।
  3. उद्यमी विकास योजना: इस योजना के तहत निर्माण क्षेत्र में उद्यमिता को बढ़ावा दिया जाएगा और नए उद्यमियों को सहायता प्रदान की जाएगी।

इन योजनाओं के माध्यम से राजस्थान सरकार निर्माण क्षेत्र में काम करने वाले लोगों के विकास और समृद्धि को सुनिश्चित करने के लिए कदम उठा रही है।

छात्र तथा छात्राओं को योजना के अंतर्गत निम्नलिखित लाभ प्रदान किए जाएंगे :-

राजस्थान निर्माण श्रमिक शिक्षा और कौशल विकास योजना में छात्रों और छात्राओं को विभिन्न योजनाओं के अंतर्गत निम्नलिखित लाभ प्राप्त होंगे। यह लाभ सभी के लिए समान रूप से उपलब्ध होंगे और उन्हें उनके शैक्षिक और पेशेवर विकास के लिए सहायता प्रदान करेगा।

  1. छात्रवृत्ति: योजना के तहत छात्रों और छात्राओं को छात्रवृत्ति प्रदान की जाएगी जो उनकी शैक्षिक योग्यता को समर्थन देगी और उनके आगे के अध्ययन को भी सुविधाजनक बनाएगी।
  2. नकद पुरस्कार: छात्रों और छात्राओं को उत्कृष्टता में प्रोत्साहित करने के लिए नकद पुरस्कार भी प्रदान किए जाएंगे जो उनके प्रयासों को सराहेगा और उन्हें अधिक प्रेरित करेगा।

इस प्रकार योजना के तहत छात्रों और छात्राओं को शिक्षा और कौशल में स्थायी सफलता की दिशा में मदद मिलेगी और उन्हें अधिक आत्मनिर्भर बनाने में सहायता प्राप्त होगी

Rajasthan nirman shramik shiksha evm kaushal vikas yojna के लाभ :- 

  • राजस्थान निर्माण श्रमिक शिक्षा व कौशल विकास योजना (Rajasthan nirman shramik shiksha evm kaushal vikas yojna) के अंतर्गत छात्र तथा छात्रा को आगामी कक्षा में प्रवेश लेने के बाद निम्नलिखित छात्रवृत्ति प्रदान की जाएगी :-
कक्षा छात्र छात्रा/ विशेष योग्यजन
कक्षा 6 से 8वी तक 8000/-रुपए प्रति वर्ष  9000/-रुपए प्रति वर्ष
कक्षा 9वी से 12वी तक 9000/-रुपए प्रति वर्ष  10,000/-रुपए प्रति वर्ष
आईटीआई 9000/-रुपए प्रति वर्ष 10,000/-रुपए प्रति वर्ष
डिप्लोमा 10,000/-रुपए प्रति वर्ष 11,000/-रुपए प्रति वर्ष
स्नातक (समान्य) 13,000/-रुपए प्रति वर्ष 15,000/-रुपए प्रति वर्ष
स्नातक(प्रोफेशनल) 18,000/-रुपए प्रति वर्ष 20,000/-रुपए प्रति वर्ष
स्नातकोत्तर (समान्य) 15,000/-रुपए प्रति वर्ष 17,000/-रुपए प्रति वर्ष
स्नातकोत्तर(प्रोफेशनल) 23,000/-रुपए प्रति वर्ष 25,000/-रुपए प्रति वर्ष

Rajasthan nirman shramik shiksha evm kaushal vikas yojna की पात्रता :- 

राजस्थान की निर्माण श्रमिक शिक्षा और कौशल विकास योजना की पात्रता के लिए कुछ महत्वपूर्ण शर्तें हैं।

पहली शर्त यह है कि आवेदक को राजस्थान का मूल निवासी होना चाहिए।

दूसरी शर्त है कि उन्हें निर्माण श्रमिक कार्यालय में पंजीकृत होना चाहिए।

तीसरी शर्त यह है कि निर्माण श्रमिक की पत्नी, पुत्री या पुत्र ही इस योजना के लिए पात्र हैं।

चौथी शर्त है कि आवेदक कक्षा 6 से स्नातकोत्तर स्तर की कक्षाओं में पढ़ रहे हों।

पांचवी शर्त है कि उन्हें सरकारी या मान्यता प्राप्त निजी विद्यालयों या महाविद्यालयों में निम्नलिखित पाठ्यक्रमों में पढ़ रहे हों : आईटीआई, पॉलिटेक्निक, डिप्लोमा, स्नातक और स्नातकोत्तर।

इसके अलावा निर्माण कार्यकर्ता के अधिकतम दो बच्चों या एक बच्चे और पत्नी को छात्रवृत्ति के लिए पात्र होना चाहिए। पति और पत्नी दोनों के पंजीकृत निर्माण कार्यकर्ता होने की स्थिति में उनके दो बच्चे पात्र हो सकते हैं। अतिरिक्त रूप से उन छात्रों को नकद पुरस्कार भी प्रदान किया जाएगा जो कक्षा 8 से 12 तक 75% अंक या उससे अधिक प्राप्त करते है , और डिप्लोमा, स्नातक और स्नातकोत्तर की परीक्षा में 60% या उससे अधिक प्राप्त हो  । आखिरकार निर्माण कार्यकर्ता की पत्नी के आवेदक होने की स्थिति में पत्नी की आयु 35 वर्ष से अधिक नहीं होनी चाहिए। उन निर्माण कार्यकर्ताओं के पुत्री, पुत्र या पत्नी को योजना के लिए पात्र नहीं माना जाएगा जिन्होंने लगातार एक वर्ष से कम समय में अंशदान जमा नहीं किया है।

Rajasthan nirman shramik shiksha evm kaushal vikas yojna के लिए आवश्यक दस्तावेज :- 

राजस्थान निर्माण श्रमिक शिक्षा और कौशल विकास योजना के लिए आवेदन करने के लिए निम्नलिखित आवश्यक दस्तावेजों की आवश्यकता होती है:

  1. आवेदक की पहचान को प्रमाणित करने वाला कोई भी दस्तावेज (पैन कार्ड, आधार कार्ड, वोटर आईडी कार्ड आदि) की प्रति।
  2. आवेदक का पता प्रमाणित करने वाला कोई भी दस्तावेज (राशन कार्ड, विधवा पेंशन कार्ड, बैंक पासबुक आदि) की प्रति।
  3. आवेदक या उनके परिवार के सदस्यों का जन्म प्रमाणित करने वाला कोई भी दस्तावेज (जन्म प्रमाण पत्र, स्कूल या कॉलेज की प्रमाणित परीक्षा की मार्कशीट , आधार कार्ड आदि)।
  4. आवेदक या उनके परिवार के सदस्यों की आय को प्रमाणित करने वाला कोई भी दस्तावेज (आय प्रमाण पत्र, आयकर रिटर्न आदि)।
  5. शिक्षा से संबंधित दस्तावेज (अंक तालिका , ग्रेजुएशन प्रमाण पत्र, प्रमाणित पाठ्यक्रम प्रमाण पत्र, स्कूल/कॉलेज से प्रमाणित प्रवेश पत्र आदि)।
  6. आवेदक या उनके परिवार के सदस्यों की फोटो प्रमाणित करने वाला कोई भी दस्तावेज (पासपोर्ट साइज फोटो, आधार कार्ड, राशन कार्ड आदि)।

उपरोक्त सारे दस्तावेजों को संबंधित अधिकारिक प्रक्रिया के तहत पूरा करना होगा। इसके अलावा यदि विभाग द्वारा कोई अतिरिक्त दस्तावेज या शर्तें हों, तो उन्हें भी पूरा किया जाना आवश्यक है ।

ऑनलाइन आवेदन करने की प्रक्रिया निम्नलिखित तथ्यों पर आधारित हो सकती है :- 

  1. योजना के आधिकारिक वेबसाइट पर पहुंचें: योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं और आवेदन करने के लिए निर्देशों को पढ़ें।
  2. नया खाता बनाएं: यदि आपका पहले से खाता नहीं है, तो नया खाता बनाएं। यहाँ पर अपनी जानकारी दर्ज करें और एक प्रयोगकर्ता नाम और पासवर्ड चुनें।
  3. लॉग इन करें: नया खाता बनाने के बाद अपने प्रयोगकर्ता नाम और पासवर्ड का उपयोग करके लॉग इन करें।
  4. आवेदन पत्र भरें: आवेदन पत्र को सही रूप में भरें सभी आवश्यक जानकारी को प्रदान करें और सभी आवश्यक दस्तावेज अपलोड करें।
  5. आवेदन की समीक्षा करें: आवेदन को समीक्षा करे और सुनिश्चित करें कि सभी जानकारी सही है और सभी आवश्यक दस्तावेज अपलोड किए गए हैं।
  6. आवेदन सबमिट करें: आवेदन पत्र को सबमिट करें।
  7. प्रमाणपत्र प्राप्त करें: आवेदन के समय प्रमाण पत्र जाँचें और प्राप्त करें।
  8. आवेदन की स्थिति का निरीक्षण करें: आवेदन की स्थिति का निरीक्षण करें और जाँचें कि आपका आवेदन स्वीकृत हुआ है या नहीं।

इसके अलावा आप जरूरत के अनुसार निर्दिष्ट दस्तावेजों की प्रति भी प्राप्त कर सकते हैं ताकि आप अपने आवेदन को सही ढंग से पूरा कर सकें।

सारांश (Summay)

तो दोस्तों, हमने आपको इस आर्टिकल के माध्यम से Rajasthan nirman shramik shiksha evm kaushal vikas yojna : राजस्थान निर्माण श्रमिक शिक्षा व कौशल विकास योजना की सभी जानकारी को विस्तार पूर्वक बता दिया है। यदि आपको जानकारी पसंद आई हो तो आप हमें मैसेज करके बता सकते हैं और इसके अलावा यदि आपको कोई भी समस्या या योजना से जुड़े सवालों के जवाब जानने हैं तो आप हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट करके बता सकते हैं।हमारी टीम आपके सभी सवालों का जवाब देने की कोशिश जरूर करेगी।

ध्यान दें :– ऐसे ही केंद्र सरकार और राज्य सरकार के द्वारा शुरू की गई नई या पुरानी सरकारी योजनाओं की जानकारी हम सबसे पहले अपने इस वेबसाइट सरकारी योजनाये के माध्यम से देते हैं तो आप हमारे वेबसाइट को फॉलो करना ना भूलें ।

अगर आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया है तो इसे Like और Share जरूर करें ।

इस आर्टिकल को अंत तक पढ़ने के लिए धन्यवाद…

Posted By – Surendra Jain

FAQs

राजस्थान निर्माण श्रमिक शिक्षा व कौशल विकास योजना क्या है :- 

राजस्थान निर्माण श्रमिक शिक्षा व कौशल विकास योजना (Rajasthan nirman shramik shiksha evm kaushal vikas yojna) एक पहल है जो राजस्थान सरकार द्वारा श्रमिकों के कौशल विकास और उनकी शिक्षा को बढ़ावा देने के उद्देश्य से शुरू की गई है। यह योजना श्रमिकों को निशुल्क शिक्षा और प्रशिक्षण की सुविधा प्रदान करती है  जिससे उनकी रोजगार क्षमता में सुधार हो। राजस्थान निर्माण श्रमिक शिक्षा व कौशल विकास योजना का मुख्य लक्ष्य राज्य में निर्माण क्षेत्र में काम करने वाले श्रमिकों को बेहतर कौशलों और शिक्षा के साथ उनके जीवनाधार को सुधारना है। इस योजना के अंतर्गत रोजगारी पाने के इच्छुक उम्मीदवारों को विभिन्न क्षेत्रों में प्रशिक्षण का मौका प्रदान किया जाता है, जिसमें निर्माण, वाहन चालक, इलेक्ट्रीशियन, प्लम्बर, इत्यादि शामिल हो सकते हैं।

इस योजना की शुरुआत कब हुई थी : – 

राजस्थान निर्माण श्रमिक शिक्षा व कौशल विकास योजना (Rajasthan nirman shramik shiksha evm kaushal vikas yojna) की शुरुआत 2018 में हुई थी। इस योजना का उद्देश्य राजस्थान के निर्माण क्षेत्र में काम करने वाले श्रमिकों को शिक्षा और कौशल प्रदान करके उनके पेशेवर विकास को प्रोत्साहित करना था।

इस योजना के लाभ क्या है :- 

यह योजना श्रमिकों को विभिन्न क्षेत्रों में कौशलिक प्रशिक्षण प्रदान करती है, जिससे उनकी क्षमता और कौशल में सुधार होता है। इससे उनकी रोजगार के अवसर में वृद्धि होती है। श्रमिकों को प्रशिक्षित करने से उनके पेशेवर योग्यता में सुधार होता है जिससे उन्हें बेहतर रोजगार के अवसर मिलते हैं। यह योजना श्रमिकों को उनकी कौशलों के आधार पर अधिक वेतन और और योग्य रोजगार प्रदान करने के माध्यम से उनकी आर्थिक स्थिरता को सुधारती है। इस योजना के माध्यम से राजस्थान के निर्माण क्षेत्र में काम करने वाले श्रमिकों के कौशल विकास से प्रदेश का विकास में भी सहायता मिलती है।

इन लाभों के अलावा इस योजना के तहत श्रमिकों को और भी कई अन्य सुविधाएं प्रदान की जाती हैं जो उनके जीवन को सुगम और समृद्ध बनाने में मदद करती हैं।

Leave a Reply