Atal Pension Yojana : इस योजना के तहत मिलेगी लाभार्थियों को 1000 रु. से 5000 रु. के बीच न्यूनतम मासिक पेंशन की गारंटी –

Atal Pension Yojana
Atal Pension Yojana
Contents hide

Atal Pension Yojana : अटल पेंशन योजना : जानिए क्या है योग्यता, लाभ एवं  संपूर्ण जानकारी

Atal Pension Yojana :- अटल पेंशन योजना (APY) सरकार द्वारा संचालित पेंशन योजना है जो मुख्य रूप से असंगठित क्षेत्र पर ध्यान केंद्रित करते हुए भारत के सभी नागरिकों के लिए है। इसका प्रबंधन नेशनल पेंशन सिस्टम (NPS) के तहत पेंशन फंड रेगुलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी (PFRDA) करता है। इस योजना के तहत लाभार्थियों को 1000 रु. से 5000 रु. के बीच न्यूनतम मासिक पेंशन की गारंटी मिलती है।

सदस्य अपनी पसंद के अनुसार 1000 रु., 2000 रु., 3000 रु., 4000 रु. या 5000 रु. की मासिक पेंशन का विकल्प चुन सकते हैं जो 60 वर्ष की आयु के बाद शुरू होगा। योजना में शामिल होने वाले व्यक्ति को मिलने वाली पेंशन की राशि सीधे उसकी आयु और योगदान के आधार पर निर्धारित होती है।

Atal Pension Yojana : अटल पेंशन योजना का मुख्य उद्देश्य

अटल पेंशन योजना का मुख्य  उद्देश्य है :

  1. असंगठित क्षेत्र के लिए सुरक्षा : यह योजना असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले व्यक्तियों जैसे हाउस हेल्प, गार्डनर, डिलीवरी बॉय आदि के लिए आर्थिक सुरक्षा प्रदान करती है।
  2. आर्थिक सुरक्षा : इस योजना के माध्यम से नागरिकों को आर्थिक सुरक्षा की भावना सुनिश्चित की जाती है ताकि उन्हें वृद्धावस्था में भी स्वतंत्र और समर्थ जीवन बिताने की संभावना हो।
  3. बीमारियों और दुर्घटनाओं से सुरक्षा : यह योजना नागरिकों को अनुभवी दुर्घटनाओं और बीमारियों के खिलाफ बचाव करने में सहायक होती है क्योंकि वह वित्तीय सहायता प्रदान करती है जो इस समय की आवश्यकताओं को पूरा करने में मदद कर सकती है।

Atal Pension Yojana : अटल पेंशन योजना के लिए योग्यता

APY में रजिस्ट्रेशन करने के लिए निम्नलिखित योग्यता शर्तें हैं :

  1. आयु सीमा : योजना के लिए आवेदक की आयु 18 से 40 वर्ष के बीच होनी चाहिए।
  2. भारतीय नागरिकता : आवेदक को भारतीय नागरिक होना चाहिए।
  3. बैंक खाता : आवेदक का चालू बैंक खाता होना चाहिए।

योजना के लाभ प्राप्त करने के लिए आवेदक को कम से कम 20 वर्षों तक योगदान करना होगा। स्वावलंबन योजना के तहत रजिस्टर किए गए व्यक्तियों को स्वचालित रूप से अपने बैंक खाते से पेंशन के लिए योगदान किया जाएगा।

Atal Pension Yojana : अटल पेंशन योजना में अकाउंट खोलने की प्रकिया

अटल पेंशन योजना अकाउंट खोलने के लिए निम्नलिखित चरणों का पालन करें :

  1. रजिस्ट्रेशन फॉर्म भरें : अपनी स्थानीय बैंक शाखा में जाएं और अटल पेंशन योजना (APY) का रजिस्ट्रेशन फॉर्म भरें।
  2. आवश्यक जानकारी प्रदान करें : आपको अपना बैंक अकाउंट नंबर, आधार नंबर और मोबाइल नंबर प्रदान करना होगा।
  3. पहली योगदान राशि जमा करें : अकाउंट खोलने के समय आपकी पहली योगदान राशि आपके लिंक्ड बैंक अकाउंट से काट ली जाएगी।
  4. रसीद नंबर / PRAN नंबर प्राप्त करें : आपका बैंक आपके लिए रसीद नंबर या PRAN (Permanent Retirement Account Number) जारी करेगा।
  5. स्वचालित योगदान की शुरुआत : बाद में आपके बैंक अकाउंट से स्वचालित रूप से योगदान किया जाएगा जिसके लिए आपको अपने अकाउंट से पहले योगदान की गई राशि के अनुसार पेमेंट की जाएगी।

Atal Pension Yojana : आवेदन फॉर्म भरने की प्रकिया

अटल पेंशन योजना के आवेदन फॉर्म को भरने के लिए निम्नलिखित मुख्य चरणों का पालन करें :

  1. बैंक जानकारी : आपको पहले अपनी स्थानीय बैंक शाखा में जाना होगा और वहां अटल पेंशन योजना का आवेदन फॉर्म लेना होगा। फॉर्म में बैंक अकाउंट नंबर, बैंक का नाम और शाखा की जानकारी भरें।
  2. व्यक्तिगत जानकारी : फॉर्म में आपकी व्यक्तिगत जानकारी जैसे नाम, जन्म तिथि, ईमेल आईडी, वैवाहिक स्थिति, पति या पत्नी का नाम, नामांकित व्यक्ति का नाम, ग्राहक के साथ नामित व्यक्ति का संबंध, ग्राहक की आयु और मोबाइल नंबर भरें। आधार कार्ड और नामांकित व्यक्तियों की जानकारी भी दी जानी चाहिए।
  3. पेंशन जानकारी : आवेदन में चयनित पेंशन राशि का चयन करें जैसे 1000 रुपये, 2000 रुपये, 3000 रुपये, 4000 रुपये या 5000 रुपये। बैंक मासिक योगदान राशि को भरने के बाद, बैंक द्वारा मासिक योगदान राशि की गणना की जाएगी।
  4. नामांकित व्यक्ति की जानकारी : अगर नामांकित व्यक्ति नाबालिग है तो उनकी जन्म तिथि, अभिभावक का नाम और अतिरिक्त जानकारी देनी होगी।

फॉर्म को सही ढंग से भरने के बाद आवेदनकर्ता के हस्ताक्षर करें और उसे अपने बैंक में जमा करें। इसके बाद आवेदन प्रक्रिया पूरी होने पर आपको रसीद नंबर या PRAN (Permanent Retirement Account Number) प्राप्त होगा।

Atal Pension Yojana : योगदान करने के लिए आपको निम्नलिखित जानकारी प्रदान करनी होगी :

  1. सेविंग बैंक अकाउंट स्टेटमेंट : आपको अपने सेविंग बैंक अकाउंट का स्टेटमेंट प्रदान करना होगा जिससे कि बैंक आपके अकाउंट से प्रति महीने योगदान को काट सके।
  2. मोबाइल नंबर : आपको अपना वैध मोबाइल नंबर प्रदान करना होगा।
  3. प्राधिकरण लेटर : आपको अपने प्राधिकरण से एक पत्र प्राप्त करना होगा जिसमें आपके अकाउंट से प्रति माह योगदान की स्वीकृति होगी।
  4. योगदान की तरह और अंतराल का चयन : आप मासिक, त्रैमासिक, या अर्धवार्षिक रूप से योगदान कर सकते हैं। इसके साथ ही आपको अपने अकाउंट में स्टैंडिंग इंस्ट्रक्शन सेट करना होगा ताकि योगदान अपने आप होता रहे।
  5. नियमित योगदान की तारीख का चयन : मासिक योगदान के लिए,पहली योगदान तिथि को ध्यान में रखते हुए आपको एक नियत तारीख का चयन करना होगा। आपके बाकी योगदान भी इसी तारीख के आधार पर काटे जाएंगे।
  6. आधार कार्ड: आपको अपना आधार कार्ड प्रस्तुत करना होगा क्योंकि यह आपकी पहचान के लिए आवश्यक है। यह KYC के लिए प्रमुख दस्तावेज होता है जो पेंशन और कॉर्पस के अधिकारों को सुनिश्चित करने में मदद करता है।

Atal Pension Yojana : अटल पेंशन योजना में योगदान करने के लिए निम्नलिखित चरणों का पालन करें:

  1. आवेदन प्रक्रिया:
    • यदि आपके पास आधार कार्ड है तो ऑनलाइन या ऑफ़लाइन आवेदन कर सकते हैं। यदि आपके पास आधार कार्ड नहीं है तो बैंक शाखा में जाकर आवेदन करें।
    • आवेदन करने के दौरान अपने बैंक खाते का विवरण और अन्य आवश्यक दस्तावेजों की जाँच करें।
  2. बैंक खाते के ऑटो-डेबिट इंस्ट्रक्शन का स्थापना  :
    • आपके बैंक से जुड़े योजना को आपके बैंक खाते से योगदान करने के लिए आपको ऑटो-डेबिट इंस्ट्रक्शन स्थापित करना होगा।
    • इसके लिए आपको अपने बैंक में जाकर आवश्यक फॉर्म भरना होगा और योजना के लिए ऑटो-डेबिट का अनुरोध करना होगा।
  3. योगदान की राशि का चयन :
    • आपको योजना में योगदान करने के लिए मासिक या वार्षिक योगदान की राशि का चयन करना होगा।
    • योगदान की राशि को आपके वित्तीय सामर्थ्य और आवश्यकताओं के अनुसार चुनें।
  4. योगदान राशि का भुगतान:
    • जैसे ही आपका बैंक खाता ऑटो-डेबिट इंस्ट्रक्शन से संबंधित होगा, योगदान राशि आपके खाते से स्वचालित रूप से कट जाएगी।
    • यदि आपके खाते में योगदान के लिए पर्याप्त धनराशि नहीं है तो जुर्माना लगा सकता है जैसा कि आपने उपरोक्त नियमों में देखा होगा।
  5. नियमित स्थिति का निरीक्षण:
    • आपको नियमित अंतराल पर अपने योगदानों की स्थिति का निरीक्षण करना चाहिए।
    • यह आपको योजना की स्थिति के बारे में संज्ञान दिलाता है और किसी भी त्रुटि को सुधारने की अनुमति देता है।

अटल पेंशन योजना में योगदान करने से पहले अच्छी तरह से योजना की शर्तों और नियमों का पालन करें और आवश्यक दस्तावेजों की जाँच करें।

अगर आप APY में योगदान करने में विफल रहते हैं तो निम्नलिखित कार्रवाई हो सकती है :

  1. अकाउंट ब्लॉक :
    • यदि आपके द्वारा भुगतान नहीं किया जाता है, तो 6 महीने के बाद आपका अटल पेंशन योजना अकाउंट ब्लॉक हो सकता है।
  2. अकाउंट इनैक्टिव :
    • अगर आपके अकाउंट में 12 महीने तक कोई भी भुगतान नहीं होता है तो आपका APY अकाउंट इनैक्टिव हो सकता है।
  3. अकाउंट बंद :
    • अगर आपके अकाउंट में 24 महीने तक कोई भुगतान नहीं होता है तो आपका APY अकाउंट बंद हो सकता है।
  4. धनराशि कटौती :
    • आपके अकाउंट से नियमित भुगतान न होने के मामले में बैंक अंतिम दिन तक देय राशि का कटौती कर सकता है।
  5. मोबाइल अलर्ट :
    • बैंक आपको समय-समय पर मोबाइल अलर्ट भेजेगा जो आपको भुगतान की याद दिलाएगा।

ध्यान दें कि ये नियम बैंक के नियमों और APY के नियमों के अनुसार बदल सकते हैं। इसलिए यदि आप APY में योगदान करते हैं तो नियमों को ध्यान से पढ़ें और समय-समय पर भुगतान करें।

Atal Pension Yojana : अटल पेंशन योजना के लाभ

अटल पेंशन योजना कई लाभ प्रदान करती है जो उनके ग्राहकों को सुरक्षा और आर्थिक सहायता प्रदान करते हैं। इनमें से कुछ प्रमुख लाभ निम्नलिखित हैं:

  1. सरकार द्वारा गारंटीकृत लाभ :
    • अटल पेंशन योजना सरकार द्वारा गारंटीकृत है जिससे रिटायरमेंट के समय व्यक्ति को कम जोखिम वाला विकल्प मिलता है।
  2. गारंटीत पेंशन :
    • सदस्य द्वारा किए गए योगदान के आधार पर निर्धारित राशि की गारंटीड पेंशन मिलती है। इसमें 1000 रुपये से लेकर 5000 रुपये तक का विकल्प होता है।
  3. कर छूट :
    • APY में योगदान को आयकर अधिनियम 1961 के तहत धारा 80CCD (1) के तहत टैक्स छूट के लिए योग्य माना जाता है।
  4. सदस्यता लेने की आसानी :
    • भारतीय निवासियों के लिए APY में सदस्यता लेना आसान है चाहे वह खुद का रोजगार करता हो या नौकरी पेशा।
  5. निवेश विकल्प :
    • APY अन्य निजी और सरकार समर्थित पेंशन योजनाओं के साथ सदस्यता को स्वीकार करता है।
  6. नामित व्यक्ति के लिए लाभ :
    • APY सदस्य के निधन के मामले में, पति, पत्नी या नामित व्यक्ति के लिए अगले लाभ की गारंटी होती है।
  7. सदस्यता की आसानता :
    • सदस्यता को मासिक, त्रैमासिक या अर्धवार्षिक योगदान की विभिन्न संभावनाओं के साथ प्रदान किया जा सकता है।
  8. व्यापक कवरेज :
    • APY संगठित और असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों दोनों के लिए है जिससे इसकी कवरेज व्यापक होती है।

Atal Pension Yojana : कुछ विभिन्न बैंकों के टोल फ्री नंबर

अटल पेंशन योजना सहायता के मामले में वर्तमान में कोई केंद्रीयकृत टोल फ्री नंबर नहीं है, लेकिन आप अपने खोले गए APY अकाउंट के बैंक के संपर्क कर सकते हैं। यहां कुछ विभिन्न बैंकों के टोल फ्री नंबर दिए जा रहे हैं जो आपको APY सहायता में मदद कर सकते हैं :

  1. State Bank of India (SBI) : 1800-11-0009
  2. Punjab National Bank (PNB) : 1800-180-2222
  3. Bank of Baroda (BOB) : 1800-102-4455
  4. HDFC Bank : 1800-120-1001
  5. ICICI Bank : 1800-200-3344

यदि आपने अपना अकाउंट किसी अन्य बैंक में खोला है तो उस बैंक की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर सहायता नंबर की जानकारी प्राप्त करें। इसके अलावा आप बैंक के शाखा में भी संपर्क कर सकते हैं और वहां के अधिकारियों से सहायता प्राप्त कर सकते हैं।

FAQ’s

अटल पेंशन का बैलेंस ऑनलाइन कैसे चेक करें ?

अगर आपने मोबाइल बैंकिंग या इंटरनेट बैंकिंग सेवा एक्टिवेट कर रखी है तो आप अपने बैंक के मोबाइल एप्लिकेशन या वेबसाइट पर लॉगिन करके अपने APY खाते का बैलेंस चेक कर सकते हैं।

अटल पेंशन योजना में आवेदनकर्ता मृत्यु के बाद क्या होता है ?

यदि सदस्य की मृत्यु 60 वर्ष की आयु प्राप्त करने के बाद होती है और वह पेंशन प्राप्त कर रहा था तो पेंशन की राशि सदस्य के पति/पत्नी को आजीवन प्रदान की जाती है।

सारांश (Summay)

तो दोस्तों हमने आपको इस आर्टिकल के माध्यम से (Atal Pension Yojana : इस योजना के तहत मिलेगी लाभार्थियों को 1000 रु. से 5000 रु. के बीच न्यूनतम मासिक पेंशन की गारंटी ) की सभी जानकारी को विस्तार पूर्वक बता दिया है। यदि आपको जानकारी पसंद आई हो तो आप हमें मैसेज करके बता सकते हैं और इसके अलावा यदि आपको कोई भी समस्या या योजना से जुड़े सवालों के जवाब जानने हैं तो आप हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट करके बता सकते हैं। हमारी टीम आपके सभी सवालों का जवाब देने की कोशिश जरूर करेगी।

ध्यान दें :– ऐसे ही केंद्र सरकार और राज्य सरकार के द्वारा शुरू की गई नई या पुरानी सरकारी योजनाओं की जानकारी हम सबसे पहले अपने इस वेबसाइट सरकारी योजनाये के माध्यम से देते हैं तो आप हमारे वेबसाइट को फॉलो करना ना भूलें ।

अगर आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया है तो इसे Like और Share जरूर करें ।

इस आर्टिकल को अंत तक पढ़ने के लिए धन्यवाद

Leave a Reply