Mukhyamantri Kisan Mitra Urja Yojana:मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना

Mukhyamantri Kisan Mitra Urja Yojana
Contents hide
1 Mukhyamantri Kisan Mitra Urja Yojana:मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना पात्रता,लाभ,जानकारी

Mukhyamantri Kisan Mitra Urja Yojana:मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना पात्रता,लाभ,जानकारी

Mukhyamantri Kisan Mitra Urja Yojana के माध्यम से प्रदेश के मीटर्ड किसान उपभोक्ताओं को बिजली के बिल पर अनुदान प्रदान किया जाता है। यह अनुदान राशि प्रतिमाह अधिकतम ₹1000 रुपए एवं प्रतिवर्ष अधिकतम ₹12000 रुपए है। इस योजना के अंतर्गत सभी पात्र कृषि उपभोक्ताओं को विद्युत वितरण निगम द्वारा द्विमासिक बिलिंग व्यवस्था के आधार पर बिजली का बिल जारी किया जाएगा। बिजली के बिल की 60% राशि अनुपातिक आधार पर प्रतिमाह देय होती है। यह राशि अधिकतम ₹1000 प्रतिमाह होती है। मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना का लाभ सभी किसान उपभोक्ताओं को मई से मिलना आरंभ हो जाएगा। इस योजना के तहत किसानों के बिजली बिल पर सब्सिडी प्रदान की जाती है। आज हम इस लेख के माध्यम से किसान मित्र ऊर्जा योजना से संबंधित महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान करेंगे। जैसे उद्देश्य, लाभ, विशेषताएं, पात्रता, महत्वपूर्ण दस्तावेज, आवेदन प्रक्रिया आदि। मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना Mukhyamantri Kisan Mitra Urja Yojana की।

Mukhyamantri Kisan Mitra Urja Yojana क्या है

“राजस्थान के मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत जी ने 9 जून को शुरू की गई एक नई पहल के रूप में ‘Mukhyamantri Kisan Mitra Urja Yojana’ को अभिवादन दिया है। इस योजना के माध्यम से, प्रदेश के किसानों को बिजली के बिल पर आर्थिक समर्थन प्रदान किया जाएगा।

योजना के अनुसार, प्रतिमाह किसानों को अधिकतम ₹1000 रुपए तथा प्रतिवर्ष अधिकतम ₹12000 रुपए का अनुदान प्रदान किया जाएगा। इसके तत्पर, विद्युत वितरण निगम द्वारा द्विमासिक बिलिंग व्यवस्था के आधार पर किसानों को बिजली का बिल जारी किया जाएगा। बिल की 60% राशि अनुपातिक आधार पर प्रतिमाह देय होती है, जिसमें अधिकतम राशि ₹1000 प्रतिमाह शामिल है।

‘Mukhyamantri Kisan Mitra Urja Yojana’ का लाभ सभी कृषि उपभोक्ताओं को मई से मिलना शुरू होगा। इस महत्वपूर्ण पहल के लिए सरकार ने योजना के कार्यान्वयन के लिए 1450 करोड़ रुपए का विशेष बजट निर्धारित किया है, जो किसानों की आर्थिक सुरक्षा में सुधार करने का मुख्य उद्देश्य है।”

Mukhyamantri Kisan Mitra Urja Yojana के उदेश्य

‘Mukhyamantri Kisan Mitra Urja Yojana”राजस्थान सरकार द्वारा प्रारंभ की गई इस अद्वितीय योजना का मुख्य उद्देश्य है राज्य के आर्थिक रूप से कमजोर आय वर्ग के किसानों उपभोक्ताओं को बिजली बिल के भुगतान में सहायता प्रदान करना। यह पहल उन किसानों के लिए है जिनकी आर्थिक स्थिति इतनी सुधार जरुरी है कि वे समय पर बिजली के बिल का भुगतान कर सकें और उनका बिजली कनेक्शन न काटा जाए। यह उन अनेक किसानों के लिए एक राहत का स्रोत बन सकता है जिन्हें अपने बिजली बिलों की चुक्तीयों से निजात प्राप्त करने में कठिनाई होती है।

‘Mukhyamantri Kisan Mitra Urja Yojana योजना के तहत, सरकार द्वारा बिजली बिल के भुगतान पर 60% तक सब्सिडी प्रदान की जाएगी, जिससे हर माह आवेदक किसान को 1000 रुपए तक का लाभ होगा। इससे उन्हें बिजली बिल के समय पर भुगतान करने में मदद मिलेगी और वे बकाया बिलों के भार से मुक्त हो सकेंगे, जिससे उनकी आर्थिक स्थिति में सुधार होगा। यह योजना किसानों को आर्थिक सुरक्षा में सहायक बनाने का एक प्रयास है, ताकि उन्हें अपनी कृषि गतिविधियों में समृद्धि मिल सके।”

Mukhyamantri Kisan Mitra Urja Yojana की जानकारी

योजना का नाम Rajasthan Kisan Mitra Urja Yojana
किसने आरंभ की राजस्थान सरकार
लाभार्थी राजस्थान के कृषि
उद्देश्य बिजली के बिल पर अनुदान प्रदान करना
आधिकारिक वेबसाइट यहां क्लिक करें
साल 2023
आवेदन का प्रकार ऑनलाइन/ऑफलाइन
अनुदान राशि अधिकतम ₹1000 प्रतिमाह एवं ₹12000 प्रति वर्ष

 

[catlist]

Mukhyamantri Kisan Mitra Urja Yojana अतिरिक्त अनुदान

‘Mukhyamantri Kisan Mitra Urja Yojana के अंतर्गत ग्रामीण क्षेत्रों में सामान्य श्रेणी एवं फ्लैट रेट कृषि उपभोक्ताओं को वर्तमान में प्रदान की जा रही टैरिफ सब्सिडी के साथ-साथ अतिरिक्त सब्सिडी भी प्रदान की जाएगी। यह अतिरिक्त सब्सिडी ₹1000 प्रति माह होगी। 1 वर्ष में अधिकतम ₹12,000 का अनुदान प्रदान किया जाएगा। यह अतिरिक्त अनुदान निम्नलिखित शर्तों के अधीन प्रदान किया जायेगा।

  • यह योजना तीनों बिजली वितरण कंपनियों के मई माह में जारी होने वाले कृषि बिलों और उसके बाद बिलिंग माह में लागू की जाएगी।
  • विद्युत वितरण कंपनी द्वारा हर दो माह में बजट घोषणा की पालना के आधार पर बिजली बिल जारी किया जाएगा।
  • यह अतिरिक्त सब्सिडी राशि केवल ग्रामीण एवं फ्लैट रेट मीटर वाले सामान्य श्रेणी के कृषि उपभोक्ताओं को ही प्रदान की जाएगी।
  • यदि चालू बिलिंग माह में चालान जारी करते समय कोई बकाया राशि नहीं है, तो इस स्थिति में बिजली बिल में सब्सिडी राशि इस परिपत्र के अनुसार समायोजित की जाएगी।
  • उपभोक्ताओं को नियत तिथि पर बिजली बिल जमा करने के लिए प्रेरित किया जायेगा.
  • ‘Mukhyamantri Kisan Mitra Urja Yojana में यदि किसी वित्तीय वर्ष में उपभोक्ता की टॉप-अप राशि ₹1000 से कम है, तो ऐसी स्थिति में शेष राशि उसी वित्तीय वर्ष के शेष माह में समायोजित की जाएगी।
  • यदि कोई नया कनेक्शन वर्ष के मध्य में सक्रिय किया जाता है, तो वार्षिक सब्सिडी सीमा का आनुपातिक भुगतान किया जाएगा।
  • लगातार, प्रत्येक प्राप्तकर्ता कृषक की संख्या और उन्हें दिए गए पुरस्कारों की जानकारी धन विभाग को दी जाएगी।
  • पावर डिसेमिनेशन एंटरप्राइज को इस योजना के तहत दिए जाने वाले अतिरिक्त पुरस्कार और आगामी मौद्रिक वर्ष के प्रस्ताव सहित धन प्रभाग को डेटा देना चाहिए। यह जानकारी प्राप्त करने का एकमात्र तरीका बीएफसी बैठक होगी। ताकि पुरस्कार राशि की व्यवस्था की गारंटी धन प्रभाग द्वारा की जा सके।
  • अतिरिक्त अनुदान राशि प्राप्त करने के लिए लाभार्थी को अपने बिजली खाता संख्या को अपने आधार और बैंक खाता संख्या से जोड़ना होगा।
  • यह मानते हुए कि क्रेता सत्ता का दुरुपयोग करता है या सत्ता छीन लेता है या बिजली की चोरी और कंपनी की संपत्ति को नुकसान पहुंचाने की स्थिति में, प्रायोजन राशि खरीदार को उसकी कमी से मुक्त होने के बाद या पूरी चार्ज की गई राशि जमा करने के बाद अगले चार्जिंग महीने में दी जाएगी। . .

 Mukhyamantri Kisan Mitra Urja Yojana में 6 लाख किसानों को पहुंचा योजना का लाभ

“दिनांक 24 मार्च 2022 को आयी जानकारी के अनुसार, प्रदेश में ”Mukhyamantri Kisan Mitra Urja Yojana का प्रारंभ हो चुका है, जिसके अंतर्गत महीने भर में किसानों को बिजली के बिल में ₹1000 की छूट प्रदान की जा रही है। इस उपहारदाता योजना के माध्यम से अब तक 6 लाख किसानों को लाभ पहुंचा है।

साथ ही, इस वर्ष उन घरेलू विद्युत उपभोक्ताओं के लिए भी सुखद खबर है कि जो 100 यूनिट तक बिजली का उपभोग करेंगे, उन्हें 50 यूनिट तक निशुल्क बिजली प्रदान की जाएगी। इसके साथ ही, सभी घरेलू उपभोक्ताओं को 150 यूनिट तक उपभोग पर ₹3 प्रति यूनिट का अनुदान और 150 से 300 यूनिट के उपयोग पर ₹2 प्रति यूनिट का अनुदान प्रदान किया जाएगा। इस प्रयास के माध्यम से समस्त उपभोक्ताओं को बिजली के बिल में आराम से सहायता मिलेगी और उनकी आर्थिक स्थिति में सुधार होगा।”

Mukhyamantri Kisan Mitra Urja Yojana के लाभ तथा विशेषताएं

  • ‘Mukhyamantri Kisan Mitra Urja Yojana का शुभारंभ 9 जून  2021 को राजस्थान के मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत द्वारा किया गया।
  • इस योजना के माध्यम से राज्य के किसानों और उपभोक्ताओं को सब्सिडी प्रदान की जाएगी। जिससे उन्हें बिजली बिल भरने में मदद मिले.
  • इस सब्सिडी की राशि अधिकतम ₹1000 प्रति माह और अधिकतम ₹12000 प्रति वर्ष है।
  • इस योजना के तहत बिजली वितरण कंपनी सभी पात्र कृषि उपभोक्ताओं को द्विमासिक बिलिंग प्रणाली के तहत बिजली बिल जारी करेगी।
  • ‘Mukhyamantri Kisan Mitra Urja Yojana को शुरू करने की घोषणा मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने वर्ष 2021-22 के बजट में की थी।
  • बिजली बिल का 60% मासिक आनुपातिक आधार पर भुगतान किया जाएगा। जो अधिकतम ₹1000 प्रति माह होगा.
  • मई से शुरू होने वाली इस योजना का लाभ सभी उपभोक्ता किसान उठा सकेंगे.
  • इस योजना के क्रियान्वयन पर सरकार 1,450 करोड़ रुपये खर्च करेगी.
  • कृषि मै इस योजना का लाभ तभी होगा जब कृषि ऊर्जा वितरण कंपनी में कोई राशी बकाया  न हों।
  • ‘Mukhyamantri Kisan Mitra Urja Yojana 2022 का लाभ प्राप्त करने के लिए, लाभार्थी के लिए अपने आधार संख्या को बैंक खाते से जोड़ना अनिवार्य होगा।
  • यदि किसान बकाया राशि का भुगतान करता है, तो इस मामले में सब्सिडी की राशि का भुगतान अगामी के बिजली बिल पर किया जाएगा।
  • यदि कृषि का उपयोग कृषि के लिए कम किया जाता है और चालान £ 1000 से कम है, तो इस स्थिति में चालान की मात्रा और सब्सिडी की राशि के बीच अंतर लाभार्थी खाते में जमा किया जाएगा।
  • इस योजना के माध्यम से कृषि उपभोक्ताओं को बिजली बचाने के लिए भी प्रोत्साहित किया जाएगा।
  • केंद्रीय और राज्य सरकार के कर्मचारी मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना का लाभ नहीं मान सकते।

Mukhyamantri Kisan Mitra Urja Yojana की पात्रता

  • योजना के लिए आवेदन करने वाले किसानों को राजस्थान का स्थायी निवासी होना चाहिए।
  • राज्य के किसान-उपभोक्ता जिनके पास मीटर कनेक्शन है, वे योजना के लिए आवेदन कर सकेंगे।
  • केंद्र और राज्य सरकार के कर्मचारी या आयकर देने वाले किसान इस योजना के तहत आवेदन करने के पात्र नहीं होंगे।
  • इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए, आवेदक को पहले यह आवश्यक होगा कि किसान बकाया चालान का भुगतान करे, जिसके बिना किसान को सब्सिडी का लाभ नहीं मिलेगा।
  • उम्मीदवारों के पास शासन में आवेदन के लिए सभी महत्वपूर्ण दस्तावेज होने चाहिए।
  • किसान मित्रा योजना के आवेदन के लिए आवश्यक है कि वह उसका एक बैंक खाता हो, जो उसके आधार कार्ड से जोड़ा होना चाहिए।

Mukhyamantri Kisan Mitra Urja Yojana महत्वपूर्ण दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • बैंक खाता विवरण
  • निवास प्रमाण पत्र
  • राशन कार्ड
  • आय प्रमाण पत्र
  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ
  • मोबाइल नंबर

Mukhyamantri Kisan Mitra Urja Yojana के अंतर्गत आवेदन करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको नजदीकी विद्युत विभाग में जाना होगा।
  • इसके बाद आपको वहां से मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना का आवेदन पत्र प्राप्त करना होगा।
  • अब आपको आवेदन पत्र में मांगी गई सभी महत्वपूर्ण जानकारी जैसे नाम, मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी आदि दर्ज करनी होगी।
  • अब आपको आवेदन पत्र के साथ सभी महत्वपूर्ण दस्तावेज संलग्न करने होंगे।
  • इसके बाद आपको आवेदन पत्र विद्युत विभाग में जमा करना होगा।
  • इस तरह आप किसान मित्र ऊर्जा योजना के तहत आवेदन कर सकते हैं।

सारांश (Summay)

तो दोस्तों, हमने आपको इस आर्टिकल के माध्यम से बताया कि कैसे आप ( मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना 2023) ‘Mukhyamantri Kisan Mitra Urja Yojana 2023 की सभी जानकारी को विस्तार पूर्वक बता दिया है। यदि आपको  यह जानकारी पसंद आई हो तो आप हमें मैसेज करके बता सकते हैं और इसके अलावा यदि आपको कोई भी समस्या या योजना से जुड़े सवालों के जवाब जानने हैं तो आप हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट करके बता सकते हैं। हमारी टीम आपके सभी सवालों का जवाब देने की कोशिश जरूर करेगी।

ध्यान दें :– ऐसे ही केंद्र सरकार और राज्य सरकार के द्वारा शुरू की गई नई या पुरानी सरकारी योजनाओं की जानकारी हम सबसे पहले अपने इस वेबसाइट सरकारी योजनाये के माध्यम से देते हैं तो आप हमारे वेबसाइट को फॉलो करना ना भूलें ।

अगर आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया है तो इसे Like और Share जरूर करें ।

इस आर्टिकल को अंत तक पढ़ने के लिए धन्यवाद…

Posted By – Surendra Jain

 

मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना से जुड़े प्रश्न/उत्तर

Mukhyamantri Kisan Mitra Urja Yojana क्या है ?

मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना राजस्थान के कृषि उपभोक्ताओं को बिजली बिल पर मासिक सब्सिडी का लाभ प्रदान करने के लिए शुरू की गई एक योजना है।

इस योजना की शुरुआत कब की गई थी ?

राजस्थान के मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत जी ने 9 जून को शुरू की गई एक नई पहल के रूप में ‘Mukhyamantri Kisan Mitra Urja Yojana’ को अभिवादन दिया है।

मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना के माध्यम से किसानों को क्या लाभ प्रदान किया जाएगा ?

मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना के माध्यम से, किसानों को बिजली भुगतान पर 60% सब्सिडी का लाभ मिलेगा, यानी 1,000 रुपये प्रति माह, जो प्रति वर्ष 12,000 रुपये की सब्सिडी के बराबर है।

इस योजना का लाभ कौन से किसान ले सकेंगे ?

इस योजना का लाभ: राज्य के स्थायी निवासी, मीटर वाले कृषि कनेक्शन वाले किसान जो केंद्र या राज्य सरकार के कर्मचारी या आयकर दाता नहीं हैं, योजना का लाभ प्राप्त करने के पात्र होंगे।

मुख्यमंत्री किसान ऊर्जा योजना के संचालन के लिए सरकार द्वारा इसमें कितना व्यय किया जाएगा ?

परियोजना के संचालन के लिए सरकार हर साल 1450 करोड़ रुपये खर्च करेगी.

Leave a Reply